WhatsApp Image 2024-03-22 at 3.00.41 PM
WhatsApp Image 2024-03-22 at 3.00.41 PM
previous arrow
next arrow
क्राइमछत्तीसगढ़राजनीतिस्वास्थय

स्टॉफ की उपस्थिति के साथ समय पर हो मरीजों का उपचार : कलेक्टर

स्टॉफ की उपस्थिति के साथ समय पर हो मरीजों का उपचार : कलेक्टर

कलेक्टर ने किया रानी धनराज कुंवर देवी शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का आकस्मिक निरीक्षण

स्वच्छता बनाएं रखने और कमियों को दूर करने के दिए निर्देश।

कोरबा (आई.बी.एन -24) कलेक्टर श्री अजीत वसंत ने आज रानी धनराज कुंवर देवी शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का आकस्मिक निरीक्षण किया। उन्होंने यहां ओपीडी, मरीजों के वार्ड्स, प्रसव कक्ष, एक्स-रे कक्ष, ऑपरेशन थियेटर, पैथोलॉजी लैब, सोनोग्राफी कक्ष सहित सभी शाखाओं का निरीक्षण किया। कलेक्टर ने अस्पताल में चिकित्सक सहित अन्य स्टॉफ की समय पर उपस्थिति सुनिश्चित करते हुए मरीजों का समय पर उपचार करने तथा अस्पताल परिसर में स्वच्छता बनाएं रखने के निर्देश बीएमओ को दिए। उन्होंने अस्पताल में उपचार कराने आएं मरीजों से भी बात की और यहां उपचार व्यवस्था के संबंध में जानकारी ली। कलेक्टर ने अस्पताल में मरीजों की सुविधाओं में वृद्धि करने और यहां की प्रमुख समस्याओं को दूर करने की बात कही। इस दौरान जिला पंचायत सीईओ श्री संबित मिश्रा, निगम आयुक्त श्रीमती प्रतिष्ठा ममगाई,सीएमएचओ डॉ एस एन केशरी और बीएमओ डॉ दीपक राज उपस्थित थे।


कलेक्टर श्री वसंत ने यहां प्रतिदिवस ओपीडी, आईपीडी, प्रसव, गर्भवती माताओं की जांच, टीकाकरण, सीजेरियन ऑपरेशन, अन्य ऑपरेशन, लैब जांच, आयुष्मान कार्ड बनाने इत्यादि की संख्या की जानकारी ली। उन्होंने वार्ड में भर्ती मरीज से भोजन के संबंध में जानकारी लेते हुए बीएमओं को मरीजों को गुणवत्तापूर्ण और पौष्टिक भोजन समय पर उपलब्ध कराते हुए इसका मॉनीटरिंग के निर्देश दिए। कलेक्टर ने डेंटल, नेत्र विभाग, आयुर्वेदिक विभाग, जेनेरिक दवा वितरण कक्ष का निरीक्षण किया और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने प्रथम तल में बनाएं गए वार्ड तक मरीजों को लाने-ले जाने तथा सामग्री परिवहन में हो रही असुविधा को दूर करने लिफ्ट की सुविधा के संबंध में भी निर्देष दिए। सीएचसी में निरीक्षण के दौरान कलेक्टर श्री वसंत को बीएमओ डॉ राज ने यहां उपलब्ध सुविधाओं की विस्तार से जानकारी दी। बीएमओं ने बताया कि यहां प्रसव की औसत संख्या 50 प्रतिमाह है जो सीएचसी के लिए 30 प्रति माह के अनुरूप है। वर्तमान में लगभग 50 प्रकार के टेस्ट होने, सेमी ऑटो एनालाइजर मशीन में 5 से 8 टेस्ट हार्ट, लीवर, किडनी के होने, प्रतिदिन 300 से अधिक ओपीडी, माह में 50 के औसत से प्रसव, 15 के औसत से सीजेरियन ऑपरेशन, 10 के औसत से सीटीटी, एमटीपी ऑपरेशन एवम 10 के औसत से हार्निया, हाइड्रोसिल, फाइल्स, फिस्तुला सहित जनरल सर्जरी के ऑपरेशन होने तथा प्रति माह 150 से 180 तक सोनोग्राफी की सुविधा प्रदान करने की जानकारी दी गई। कलेक्टर ने यहां की प्रमुख आवश्यकताओं की जानकारी उपलब्ध कराने और समस्याओं को दूर करने की बात कही है। उन्होंने परिसर में संचालित रेड क्रॉस दुकान की नियमित अंतराल में निरीक्षण के निर्देश भी दिए हैं।

Indian Business News

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!