WhatsApp Image 2024-03-22 at 3.00.41 PM
WhatsApp Image 2024-03-22 at 3.00.41 PM
previous arrow
next arrow
Uncategorized

कर्मदक्ष संस्था द्वारा राष्ट्रीय मछली किसान दिवस पर हाई इंपैक्ट मेगा वाटरशेड क्षेत्र में मत्स्य पालन प्रशिक्षण का आयोजन।

पाली (आई.बी.एन -24) राष्ट्रीय मछली किसान दिवस 10 जुलाई जो पूरे देश के लिए मछली किसानों के अपार योगदान और टिकाऊ जलीय कृषि के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को पहचानने का एक अवसर है। इस उद्देश्य को साझा करते हुए कर्मदक्ष संस्था कोरबा द्वारा पाली ब्लॉक के लाफा, सेंद्रीपाली, कर्रा नवापारा धौराभाटा में अमृत सरोवर और गोठान समूह एवं व्यक्तिगत डाबरी के साथ मछली पालन को लेकर प्रशिक्षण दिया गया और साथ में मछली बीज को लेकर योजना निर्माण किया जा रहा है प्रथम स्तर पर डबरी एवं तालाब को मछली पालन हेतु उपयुक्त बनाने के लिए उनको चुना से उपचार किया है जिससे पानी का ph संतुलित रहे और ऑक्सीजन की मात्रा बढ़े।

 

साथ ही साथ खली का प्रयोग किया जा रहा है जिससे प्लांटन की मात्रा को बढ़ाया जा सके जो मछली के चारा के लिए उपलब्ध होगा

इस अवसर पर समूह के साथ जाल चलाना , चूना और पोटेशियम परमैंगनेट डालना, महुआ खल्ली डालने का कार्य किया गया और सभी को मत्स्य पालन को लेकर जागरूक किया गया

जिसमे मछली पालन क्यों जरूरी है ,इसके संबंध में निम्न जानकारी दी गई…
1-अतिरिक्त आय के लिए।
2-आवश्यक पोषण आहार के लिए।
मुख्य बिंदु..
1-तालाब/डबरी का चयन जिसमें 9 माह से ऊपर पानी रुकता है।
2-मछली बीज का चयन एवम् ( कतला, रोहू, मृगल) की मात्रा/प्रतिशत।
3-तालाब/डबरी का साफ-सफाई एवम् चुना व महुआ खली को कैसे डालें तथा इसके फायदे क्या है।
4- रेगुलर नेटिंग एवम् PH चेक करना क्यों जरूरी है,PH 6-8 ही क्यों होना चाहिए।
5-मछली का चारा, एवम् गोबर, सरसों खली को कितनी मात्रा तथा किस समय डाले।
6-मछली में लगने वाले मुख्य रोग की जानकारी एवम् रोकथाम।

उक्त कार्यक्रम में मुख्य रूप से ग्राम वासी सरपंच , तकनीकी सहायक , रोजगार सहायक नरेगा कर्मदक्ष संस्था के टीम लीडर कमल भारद्वाज प्रशिक्षक, कन्हैया नायक ,बिहारी पटेल ,सुमित, आशुतोष सोनी,तिलकुंवर, छत्रपाल मरावी, सोमकुमारी,एवं मत्स्य पालक शामिल हुए।

Indian Business News

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!