WhatsApp Image 2024-03-22 at 3.00.41 PM
WhatsApp Image 2024-03-22 at 3.00.41 PM
previous arrow
next arrow
छत्तीसगढ़राजनीति

मानिकपुर रेल्वे साइडिंग में चल रही अज्ञात वाहन की चपेट में आकर ड्राइवर की दर्दनाक मौत।

एसईसीएल के पास परमिशन नहीं होने पर लापरवाही पूर्वक रेलवे साइडिंग में अत्यधिक मात्रा में कोयला को किया जा रहा डंप।

कोरबा(आई.बी.एन -24)। एसईसीएल मानिकपुर कोयला खदान जिले की एक कोयला खदानों में से प्रमुख खदानों में से एक है। जो कि ट्रेन एवं भारी वाहनों से बालको स्टील अल्युमिनियम प्लांट एवं अन्य प्लांट में तथा कोरबा रेलवे साइडिंग और रोड सेल अन्य स्थानों में भारी मात्रा में कोयले की आपूर्ति की जा रही है। जिससे कि ऊर्जा उत्पादन करने में एसईसीएल मानिकपुर कोयला खदान कोयला संचालन हेतु प्रमुख भूमिका निभा रही है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मानिकपुर कोयला खदान के मेन बैरियर से कॉलोनी होते हुए रेलवे साइडिंग जाने वाली सड़क पर आज सवेरे तकरीबन 5:00 बजे एक ड्राइवर जो कि एसईसीएल गेवरा कोयला खदान के आउटसोर्सिंग निजी कंपनी में कार्यरत ड्राइवर ओमप्रकाश उरांव, उम्र लगभग 34 वर्ष, निवासी रापाखर्रा, चौकी मानिकपुर क्षेत्र अंतर्गत संबंधित व्यक्ति की अज्ञात वाहन की चपेट में आने से दर्दनाक मौत हुई है।

संदेहास्पद रूप से बताया गया है कि मानिकपुर कोयला खदान में कार्यरत एक आउटसोर्सिंग निजी कंपनी एसीसी कंपनी के वाहन चालक के द्वारा मानिकपुर कोयला खदान से अपने गाड़ी में कोयला लादकर रेलवे साइडिंग में कोयला खाली करने हेतु रास्ते पर लापरवाही पूर्वक गाड़ी चलाई जा रही थी। इसी बीच ओमप्रकाश उरांव रोजाना की तरह अपने कार्य करने को लेकर गेवरा खदान जाने के लिए घर से निकला था। इसी बीच मानिकपुर से जाने वाली रेलवे साइडिंग मुख्य सड़क में चल रही एक अज्ञात कोयले से भरी, भारी भरकम वाहन के चपेट में आने से संबंधित ड्राइवर की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। इसी प्रकार अज्ञात वाहन तथा वाहन चालक इस गंभीर घटना को अंजाम देते हुए तथा मौके का फायदा उठाकर घटनास्थल से हुआ फरार।

एसईसीएल मानिकपुर प्रबंधक की घोर लापरवाही

मानिकपुर कोयला खदान में सेफ्टी सुरक्षा मामले को लेकर निरंतर कर्मचारियों के द्वारा आवाज उठाई जाती रही है तथा पर्यावरण प्रदूषण को लेकर शासन प्रशासन को सूचना देते हुए अवगत भी कराई जाती रही है। परंतु अक्सर देखा गया है कि एसईसीएल मानिकपुर ही नहीं संबंधित जिले के सभी कोयला खदानों में सेफ्टी सुरक्षा एवं पर्यावरण प्रदूषण मामले को लेकर घोर लापरवाही अपनाई जाती रही है।

जानकारी मिली है कि मानिकपुर मुख्य बैरियर से मानिकपुर कॉलोनी होते हुए रेलवे साइडिंग जाने वाली मुख्य सड़क में फर्जी तरीके से कोयला गाड़ियां चलवाई जा रही है। एसईसीएल मानिकपुर प्रबंधक और निजी कंपनियों के सांठगांठ से मानिकपुर कोयला खदान में वाहनों के द्वारा कोयला भरकर रेलवे साइडिंग में कोयला खाली करवाया जा रहा है। बताया गया है कि एसईसीएल मानिकपुर के पास संबंधित क्षेत्र की सड़क में कोयला परिवहन करने को लेकर परमिशन नहीं है। बावजूद गाड़ियों में कोयला भरकर कोयला परिवहन हेतु रेलवे साइडिंग में अवैध तरीके से कोयला डंपिंग करवाई जा रही है।

एसईसीएल मानिकपुर की लापरवाही के कारण आज एक बेकसूर मासूम ड्राइवर ओम प्रकाश उरांव की आकस्मिक दर्दनाक मौत हुई है। यह मौत नहीं हत्या है। बिना परमिशन के जानबूझकर एसईसीएल मानिकपुर के द्वारा संबंधित क्षेत्र की सड़कों में बिना परमिशन गाड़ियां चलाने को लेकर संबंधित क्षेत्र के निवासियों में भारी आक्रोश देखने को मिला है। देखने वाली बात यह होगी कि इस मामले को लेकर शासन, प्रशासन के द्वारा घोर लापरवाही कर रहे एसईसीएल मानिकपुर के संबंधित जिम्मेदार एवं जवाबदार अधिकारियों के ऊपर क्या कार्रवाई की जाती है देखने वाली बात होगी।

Indian Business News

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!